प्रेगनेंसी टिप्स

पीरियड के दर्द को कम करने का उपाय

हमारे जीवन में कई प्रकार की समस्याएं देखी जा सकती हैं शारीरिक हो या मानसिक। जीवन का एक दौर ऐसा होता है, जब इन समस्याओं से दो-चार कभी ना कभी होना ही पड़ता है। महिलाओं की बात करें,तो  उनको भगवान ने एक असीम शक्ति दी है जिसके बलबूते सारे दर्द, गम  मे भी मुस्कुरा देती है लेकिन कुछ दर्द ऐसे भी हैं, जो अंदर से तोड़ने का काम करते हैं। उनमें से एक दर्द है पीरियड का दर्द।

क्या है पीरियड | kya hai period

इसे सामान्यतः मासिक धर्म या महावारी के नाम से भी जाना जाता है। यह प्रत्येक महीने होने वाली शारीरिक प्रक्रिया है, जो 10 से 15 साल की लड़कियों में शुरू होती है। पीरियड के दौरान हर महीने अंडाशय से अंडा निकलता है। ऐसे समय में महिला के शरीर में हार्मोनल परिवर्तन देखे गए हैं यह प्रक्रिया ओव्यूलेशन कहलाती है।

इस समय में अंडा का निषेचन ना हो पाए तो गर्भाशय की परत बाहर की ओर आ जाती है जिसे ही पीरियड कहा जाता है। शुरुआत में इसकी अवधि लंबी हो सकती है लेकिन धीरे-धीरे अपने सामान्य समय चार-पांच दिनों का ही रह जाता है। प्रत्येक महिला की शारीरिक संरचना अलग-अलग होती है, जो प्रायः 21 से 35 दिनों बाद पीरियड होने लगते हैं।

पीरियड के लक्षण | period ke lakshan in hindi

पीरियड के आने पर महिलाओं में कई प्रकार के लक्षण देखे गए हैं

1) पेट के निचले भाग में दर्द होना।

2) कमर दर्द होना।

3) मूड बदलना।

4) खाने का मन ना होना।

5)  उल्टी होना।

6) बेचैनी होना।

7)  किसी भी काम में मन ना लगना।

पीरियड के दर्द को कैसे किया जा सकता है दूर

कई बार महिलाएं पीरियड के दर्द को बर्दाश्त नहीं कर पाती उन्हें लगातार दर्द की शिकायत रहती है। यह दर्द कम या ज्यादा होते रहता है। ऐसे समय में कुछ उपायों के माध्यम से भी दर्द से दूर रहा जा सकता है।

1)  अदरक — अदरक कई प्रकार की बीमारियों से लड़ने में मददगार है। ऐसे में अदरक का उपयोग पीरियड के दर्द को कम करने में कर सकते हैं। इसके लिए अदरक को बारीक कूटकर पानी में उबाल लें। जब पानी उबालकर आधा हो जाए तो इसका उपयोग पीने में करें। ऐसा करने पर इस दर्द को दूर किया जा सकता है।

2) अजवाइन — इस दर्द को दूर करने के लिए अजवाइन के पानी को उबालकर पीने से भी दर्द से छुटकारा मिल सकता है।

3) पपीता — ऐसा माना जाता है कि इस दर्द को दूर करने में पपीता भी महत्वपूर्ण होता है। पपीते में पाया जाने वाला एंजाइम पेपेन पेट दर्द से राहत दिलाता है।

4) गरम पानी की थैली — यह ऐसा दर्द है, जो बार-बार होता रहता है कभी कम कभी ज्यादा। ऐसे में कुछ भी करने का मन नहीं होता तो ऐसे में आप गर्म पानी की थैली बाजार से अवश्य लाए। उस थैली से सिकाई करने पर आपको फायदा होने लगेगा।

5) दूध — ऐसे दर्द से बचने के लिए आपको दूध जरूर पीना चाहिए। दूध में कैल्शियम है, जो  इम्यूनिटी को मजबूत कर दर्द से राहत दिलाता है।

6) एलोवेरा — एलोवेरा के औषधीय गुणों की जानकारी हमें हैं। ऐसे में अगर आप एलोवेरा का जूस बनाकर पिए तो निश्चित रूप से इससे फायदा होगा।

7) जैस्मीन — ऐसा भी माना गया है कि जैस्मीन युक्त चाय पी लेने से भी इस दर्द से छुटकारा मिल सकता है।

8) गर्म पानी से नहाना —  ऐसे समय में अगर आप गर्म पानी से नहाती हैं, तो आपको अच्छा महसूस होगा और आप इस दर्द को भूल जाएगी।

पीरियड के दर्द को दूर करने के कुछ गुणकारी टिप्स | period ko dur karne ke liye helpful tips

इसके अलावा आप अगर बहुत ही ज्यादा दर्द से बेहाल रहती हैं, तो आप इन टिप्स से भी फायदा ले सकती हैं। अगर हो सके तो आप इन्हें कुछ दिनों पहले से ही शुरू करें।

1) इस दर्द से निपटने के लिए वॉकिंग पर जाएं इससे आपका शरीर  एक्टिव होगा। आपने देखा होगा कि आप जितना एक्टिव रहते हैं दर्द उतना ही कम होता है।

2) ऐसे समय में आप ज्यादा भारी खाना ना खाएं हल्का खाना ही बेहतर होगा।

3) अगर आप थोड़ा व्यायाम कर ले इससे भी फायदा होगा। ज्यादा नहीं तो आधा घंटा व्यायाम करना ही सही रहता है।

4) बिस्तर पर लेटने के बजाय खुद को एक्टिव बनाए रखें। कुकिंग करना, पुस्तकें पढ़ना, पेड़ पौधों में पानी देना, घर के छोटे-छोटे काम कर सकती हैं।

5) उस दिन अपने काम जैसे स्कूल, कॉलेज, ऑफिस से छुट्टी नहीं ले। आप अपने काम में जाएंगी तो आपका दर्द कम होगा और शरीर भी गतिशील बना रहेगा।

6) दर्द को कम करने के लिए अपना पसंदीदा म्यूजिक सुन सकती हैं यह आपको नई ताजगी और ऊर्जा देगा।

दही का सेवन भी हो सकता है फायदेमंद

पेट का दर्द असहनीय भी हो जाता है। ऐसे में बिल्कुल भी अच्छा नहीं लगता। ऐसे दर्द में आप दही का सेवन जरूर करें। दही में कई प्रकार के पोषक तत्व कैल्शियम, प्रोटीन प्रचुर मात्रा में होता है।  दही में लैक्टोबैसिलस लेसिली नामक बैक्टीरिया पाया जाता है, जो किसी भी पेट संबंधी विकार को दूर करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। ऐसे में आप भी पीरियड के दर्द को दूर करने के लिए ठंडी दही का उपयोग करें। इससे जरूर आपको फायदा होगा।

इन आहारो से दूर रहे पीरियड के समय

अगर आप पीरियड के दर्द से बेहाल रहती हैं,तो  इन आहारो से दूर रहने में आपको फायदा होगा और दर्द से भी छुटकारा मिल सकता है।

1). चीनी –– ऐसा माना जाता है कि महिलाओं और लड़कियों को मीठा खाना पसंद होता है। लेकिन जब आपको पीरियड का दर्द ज्यादा हो रहा हो, तो चीनी युक्त  आहारों का सेवन बिलकुल बंद कर दें। ऐसे हार्मोन के साथ साथ  चीनी का लेवल बढ़ता घटता  रहता है और ज्यादा चीनी लेने से मीठे का स्तर बढ़कर परेशानी कर सकता है ऐसे में कुछ दिन चीनी से दूर ही रहे।

2) वसायुक्त आहार — ऐसे समय में ऐसे  आहारो से दूर रहे जिनमें वसा अधिक मात्रा में स्थित हो। वसायुक्त पदार्थ में प्रोस्टाग्लैंडइन पाए जाते हैं, जो मुमकिन है कि इसमें गर्भाशय की दीवारें संकुचित होकर दर्द उत्पन्न करें। ऐसे में आप पौष्टिक आहार लें तो ही बेहतर होगा।

3) नमक —  महिलाएं इस बात का अंदाजा नहीं लगा पाती हैं कि ऐसे में नमक का सेवन बहुत ही हानिकारक होता है। नमक में सोडियम ज्यादा मात्रा में होता है जो कहीं ना कहीं नुकसान करता है ऐसे में कोशिश करें कि नमक ,पापड़, चिप्स से दूर ही रहा जाए।

4) काँफी –– अगर आप कॉफी पीने के शौकीन हैं, तो ऐसे में कुछ दिनों के लिए कॉफी पीना छोड़ दे तो फायदेमंद होगा।  कॉफी में कैफीन होती है, जो गर्भाशय की  दीवारों को संकुचित करके दर्द को बढ़ा देती है। ऐसे में यह पेय पदार्थ नुकसानदायक हो सकता है। ऐसे में पेट में ऐठन की भी समस्या बनी रहती है।

5) प्रोसैस्ड फूड — अगर आप ऐसे समय में प्रोसैस्ड फूड का त्याग कर दें तो आपके लिए सही रहेगा।  यह फूड तेल व वसा युक्त होता है, जो परेशानी को बढ़ाने का भी काम करता है।

प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे चेक करें

पीरियड में इन आहारो को लेने से होगा फायदा–

1)  हरी पत्तेदार सब्जियां — ऐसे समय में कई महिलाएं बहुत हेवी फ्लो का शिकार हो जाती हैं। ऐसे में पूरी संभावना होती है कि शरीर में आयरन और विटामिन की कमी हो जाएं।  बहुत अच्छा होगा कि आप हरी पत्तेदार सब्जियां ले जिससे किसी भी प्रकार की कमी शरीर को ना होने पाए।

2) नॉन वेज खाना — अगर आप नॉनवेज खाना पसंद करती हैं, तो यह आपके लिए अच्छा हो सकता है। ऐसे में अगर आप चिकन और मछली का सेवन करें तो फायदेमंद होगा। इसमें भरपूर मात्रा में ओमेगा 3 फैटी एसिड हैं, जो पीरियड में फायदेमंद है।

3) मेवे — अगर आप ऐसे समय में मेवे जैसे — काजू, बादाम ,अखरोट का सेवन करें तो उसमें उपस्थित मैग्नीशियम, आयरन दर्द को सहने की ताकत देता है।

4) गर्म पानी का सेवन — ऐसे समय में गर्म पानी का सेवन करना बहुत ही फायदेमंद होगा। गरम पानी संकुचित दीवारों को सही करने का काम करती हैं।

5) केला —  केला खाना सेहत के लिए अच्छा माना जाता है। इससे उर्जा भी प्राप्त की जा सकती है, जो मूड को सही रखने का काम करता है। जब भी आपको पीरियड का दर्द सताए तो केले का सेवन अवश्य रूप से करें।

गर्भावस्था के दौरान बवासीर का घरेलू इलाज

पहली बार पीरियड होने में ले सावधानी

जब भी कोई लड़की 12 वर्ष या उससे ऊपर होती है तो पीरियड आने शुरू हो जाते हैं।  शुरु शुरु में तो उन्हें कुछ समझ नहीं आता। ऐसे में घर की महिलाओं को भी पूरी सावधानी रखनी चाहिए। इससे संबंधित थोड़ी जानकारी पीरियड के पहले से ही दे दिया जाए तो बेहतर होगा। पहली बार पीरियड होने पर खास ध्यान रखें। ऐसा  आहार दें जिससे  परेशानी से बचा जा सके। पीरियड से संबंधित किसी भी बात को लड़कियों से ना ही छिपाएं।

समय के हिसाब से आया है बदलाव

अगर प्राचीन समय की बात की जाए तो उस समय महिलाओं के साथ पीरियड के समय बहुत ही भेदभाव किया जाता था। उन्हें जमीन में सोना पड़ता था, किचन में जाने की अनुमति नहीं थी, कोई भी खाद्य सामग्री को छूने की मनाही होती थी, उनके कपड़े बर्तन अलग ही रखा रहता था लेकिन आज के समय में बदलाव देखा गया है।  इन सारी दकियानूसी बातों को पीछे कर महिलाएं कहीं आगे निकल चुकी हैं। वे हर दर्द को झेलते हुए निरंतर आगे बढ़ रही हैं और प्रगति कर रही हैं।

निष्कर्ष

इस प्रकार से हमने देखा कि पीरियड का दर्द असहनीय है, जो मुश्किलों भरा समय है। हर महीने इस समस्या को झेलना आसान नहीं है। ऐसे में अपना ध्यान रखें और सही दिशा में  आहार ले ताकि आप स्वस्थ रह सकें। ऐसे समय में इन उपायों से खुद का ध्यान रखें और आगे बढ़े।

source:

https://www.womenshealth.gov/menstrual-cycle/period-problems
https://www.healthdirect.gov.au/medicines/brand/amt,53422011000036104/period-pain-relief-pharmacy-choice