गुडुची से इम्यूनिटी बढ़ाने के उपाय
इम्यूनिटी बढ़ाने के नुक्शे घरेलू उपाय

गुडुची से इम्यूनिटी बढ़ाने के उपाय

आज के दौर में अगर आप खुद को फिट बनाना चाहते हैं, तो ऐसे में खुद को ऐसे परिवेश में ढालना होगा जिस के अनुरूप आप खुद में बदलाव ला सके और फिट बन सके। आज के इस प्रदूषण युक्त माहौल में खुद को सही दिशा में आगे बढ़ाने के आप इच्छुक हैं तो इसके लिए आपको अपनी guduchi se immunity को मजबूत करने की आवश्यकता होगी।

इम्यूनिटी बढा़ने की दौड़ में गुडुची (Guduchi) आपके लिए बहुत ही फायदेमंद होगा, जो प्रत्येक आयु वर्ग के लोग इस्तेमाल कर सकते हैं।

क्या है गुडुची | Guduchi Kya hai

गुडुची यह नाम  ज्ञात नहीं है सिर्फ कुछ लोग ही इस नाम से सही पहचान कर पाते हैं। गुडुची को गिलोय, अमृता,  चक्र रंगी आदि नाम से भी जाना जाता है इनमें से हम सभी गिलोय से भलीभांति परिचित हैं। आयुर्वेद की दृष्टि से देखा जाए तो यह एक प्रकार का वरदान ही है इसके उपयोग के माध्यम से कई प्रकार की बीमारियों को ठीक किया जा सकता है। इसके पत्तों का आकार पान के पत्तों की तरह होता है। यह स्वास्थ्य की स्वास्थ्य की दृष्टि से फायदेमंद होता है। गुडूची की पहचान करना आसान है क्योंकि यह बेल के रूप में होता है।

गुडूची के प्रयोग से बढ़ाएं इम्यूनिटी अपनी | Guduchi ke prayog ke se badhaye immunity

वैसे तो गुडुची हमारे लिए बहुत ही कामगर है लेकिन इससे  इम्यूनिटी भी बढ़ाई जा सकती है। जिन लोगों की इम्युनिटी कम होती है वे इसके उपयोग से अपनी इम्यूनिटी में इजाफा कर सकते हैं। गुडुची एंटीऑक्सीडेंट होते हैं, जो किसी भी प्रकार के रोग से लड़ने में सहायक होते हैं। अगर आप अपनी इम्यूनिटी बढ़ाना चाहते हैं तो निश्चित रूप से गुडुची का जूस आपके लिए फायदेमंद है।

कैसे बढ़ाएं गुडूची से इम्यूनिटी | guduchi se kaise badhaye immunity

ऐसा माना जाता है कि किसी भी बीमारी से उबरने में हमारी इम्यूनिटी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। अगर इम्यूनिटी मजबूत हो, तो आसानी से सभी बीमारियों से निपटा जा सकता है। इम्युनिटी बढ़ाने का सबसे असरदार नुस्खा गुडुची अथवा गिलोय में होता है।

1) अगर आप लगातार सर्दी, खांसी या लगातार  छीको से परेशान होते हैं, तो ऐसे में गुडुची का जूस बनाकर पीना फायदेमंद होगा।

2) अगर आप कोरोना कॉल में बुखार से पीड़ित हैं ऐसे में गुडुची के उपयोग से इम्यूनिटी को बढ़ाकर बुखार को दूर किया जा सकता है।

3) हमारी इम्युनिटी कहीं ना कहीं पाचन से भी संबंधित रहती है ऐसे में अगर आप गुडुची का काढ़ा बनाकर पीए, तो इससे भी आपको फायदा ही होगा।

4) अगर गुडूची के पत्तों को सुखाकर पाउडर बनाया जाए और रोजाना इनका उपयोग किया जाए तो निश्चित रूप से इससे आपका इम्यून सिस्टम कहीं बेहतर हो जाएगा।

5) अगर आप चाहे तो घर पर ही गुडुची का रस निकालकर उसे रख सकते हैं और उसे उपयोग कर आसानी से अपनी इम्युनिटी को बढ़ा सकते हैं।

गुडूची की मुख्य खूबियां | guduchi ke fayde in hindi

यूं तो गुडूची में बहुत से औषधि गुण पाए गए हैं इसके अलावा भी बहुत सी ऐसी खूबियां हैं जिन्हें हम अनभिज्ञ हैं।

1) अगर आप डेंगू से पीड़ित हैं या आपके करीबी रिश्तेदार इस बीमारी से पीड़ित हो, तो ऐसे में गुडूची का रस देना फायदेमंद होगा। इसके माध्यम से गिरते हुए प्लेटलेट्स में भी बढ़ोतरी हो जाती है और मरीज की जान बचाई जा सकती है।

2) अगर आपने नियमित रूप से गुडूची का सेवन करें तो इससे भी आप अपनी त्वचा संबंधी भी परेशानी से दूर रह सकते हैं और त्वचा को चमकीली बना सकते हैं।

3) अगर खाली पेट गुडूची का रस पिया जाए तो इससे भी डायबिटीज के मरीजों को काफी हद तक राहत मिल सकती है और शुगर लेवल भी कंट्रोल में रहता है।

4) अगर आप पिछले कुछ दिनों से कब्ज से पीड़ित हैं, तो ऐसे में भी गुडूची मुख्य भूमिका निभाता है। इसके सेवन से कब्ज की समस्या भी खत्म नजर आती है।

5) अगर आप अपने कान के निकलने वाले मेल से भी परेशान हो चुके हैं, तो गुडुची का सेवन फायदेमंद होगा। इसके लिए गुडूची को पानी में पीस लें और हल्का गर्म कर लें। आप दिन में दो-तीन बार इसे कान में डालें जिससे आपको राहत मिलेगी।

घर पर भी बनाया जा सकता है गुडूची का रस

अगर आप अपने कम होती इम्युनिटी से परेशान हैं, तो ऐसे में आप गुडूची का जूस बनाकर फायदा ले सकते हैं। इसके लिए आप उस की शाखा को टुकड़ों में काट लें। शाखा के ऊपरी परत को सावधानी से अलग कर दें तथा पानी के साथ पीस लें। निकलने वाले रस को छान कर पी ले। ऐसे जूस को दिन में  दो बार पिया जा सकता है।

गुडुची का कितना सेवन करने से होगा फायदा

 गुडुची हमारे लिए फायदेमंद है लेकिन इसका उपयोग सीमित मात्रा में ही करना सही होता है। ऐसा माना गया है कि 20 ग्राम से ज्यादा गुडुची का उपयोग करना नुकसानदायक होता है। गुडूची के जूस को भी 20ml से ज्यादा लेना नुकसानदायक हो सकता है। अतः जब भी इसका  का उपयोग करना चाहे तो एक बार चिकित्सक से जरूर सलाह लें और सोच समझकर ही उपयोग करें।

इम्यून सिस्टम को बढ़ाने हेतु कारगर नुस्खे | immunity system ko badhane hatu kargar nuskha

अगर आप इम्यून सिस्टम को बढ़ाना चाहते हैं, तो हम आपको कारगर और अचूक नुस्खे बताने जा रहे हैं जो निश्चित रूप से आपके लिए फायदेमंद होगा।

1) अगर आप तुलसी, नीम और गुडुची की पत्तियों को पीसकर उसका सेवन करें तो इससे निश्चित रूप से इम्युनिटी बढ़ाई जा सकती है। इसे आप घर के सभी सदस्यों को भी दे सकते हैं।

2) अगर आप तुलसी की पत्ती, गुडूची का गूदा और नीम की पत्तियों को 1 लीटर पानी में उबालें और तब तक उबालें जब तक पानी आधा ना हो जाए इसे भी दिन में तीन बार सेवन करना फायदेमंद होगा।

3) अगर काली मिर्ची के पाउडर को गुडूची के साथ भी घी में भुने और उसका सेवन प्रतिदिन करें तो इससे भी इम्यूनिटी को बढ़ाया जा सकता है।

गुडूची से बरतें सावधानियां | guduchi se rakhe savdhaniya

गुडुची  अथवा गिलोय के अनगिनत फायदे हैं, जो हमारी और आपकी शारीरिक रूप से मरम्मत करने का भी कार्य करते हैं। इसके अलावा कुछ ऐसी परिस्थिति भी होती है जिसके अंतर्गत आपको गुडूची का सेवन कम से कम करना चाहिए।

1) ब्लड प्रेशर की समस्या

जिन लोगों को ब्लड प्रेशर कम रहने की समस्या बनी रहती है उन्हें गुडुची  या गिलोय कम से कम उपयोग करना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि गुडूची के सेवन से ब्लड प्रेशर और भी कम हो जाता है ऐसे में सावधानी रखने की आवश्यकता है।

2) गर्भावस्था

गर्भावस्था में जब भी महिलाएं गर्भावस्था में हो तो उन्हें गुडूची का ज्यादा उपयोग नहीं करना चाहिए और अपना पूरा ध्यान रखना चाहिए।

3)  बीमारियों का बढ़ावा

वैसे तो इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए गुडुची का उपयोग फायदेमंद है लेकिन बहुत ज्यादा उपयोग कर लेने से भी बीमारियों को बढ़ावा मिल सकता है जिसे “ऑटोइम्यून डिसीस” कहा जाता है अतः इस बारे में भी ध्यान रखने की आवश्यकता है।

घर पर भी लगाया जा सकता है गुडूची

अगर आप गुडूची का फायदा लेना चाहते हैं, तो इसके पौधे को घर में भी आसानी से लगा सकते हैं। इसे ज्यादा धूप की आवश्यकता नहीं होती और आसानी से घर में किसी गमले में भी लगाया जा सकता है जब आपको इसकी आवश्यकता हो, तो आप आसानी से इसका उपयोग कर सकते हैं।

गुडुची के विभिन्न फायदे

गुडुची के उपयोग करने से कई प्रकार के फायदे प्राप्त होते हैं–

1) आंखों की रोशनी बढ़ाना।

2) मोटापा दूर करना।

3) सर्दी, खांसी ठीक करना।

4) डायबिटीज में फायदा।

5) बुखार जल्दी ठीक करना।

6) किसी प्रकार की हड्डियों की समस्या ठीक करना।

बुजुर्गों के लिए भी है फायदेमंद

ऐसा देखा जाता है कि बुजुर्गों को स्वास्थ्य संबंधी बहुत से दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। कई बार इलाज करवाने के बाद भी समस्या कम नहीं होती है। ऐसे में अगर आप गुडुची का रस या जूस निकालकर बुजुर्गों को दें, तो इससे उनकी सारी समस्या दूर हो जाएंगी और उनकी  इम्यूनिटी भी बढ़ जाएगी। बहुत ज्यादा मात्रा में गुडुची बुजुर्गों को ना ही दें। सीमित मात्रा में देकर उनके स्वास्थ्य का ध्यान रखा जा सकता है।

कोरोना काल में फायदेमंद

आज जहां पूरा विश्व कोरोना  महामारी से जूझ रहा है। लोग अपने स्वास्थ्य के प्रति सचेत हो रहे हैं चारों ओर वैश्विक महामारी फैली हुई है। ऐसे में अगर आप नियमित रूप से गुडुची का उपयोग करें, तो इससे जनजीवन सामान्य करने में आसानी होगी। इस काल में किसी भी प्रकार के इंफेक्शन से भी बचा जा सकता है बस जरूरत है तो सावधान रहने की और मिलकर एक दूसरे का ध्यान रखने की। इसका उपयोग सीमित मात्रा में करें और स्वस्थ रहें। ऐसे में आपके और हमारे लिए यह औषधि का काम करेगी और इस बुरे समय से बाहर आने में मदद करेगी।

निष्कर्ष                          

इस प्रकार से हमने जाना है कि गुडूची हमारे लिए एक वरदान की तरह है जिससे अपनी समस्याओं को दूर कर सकते हैं और समस्याओं को जड़ से खत्म कर सकते हैं। हम अपने परिजन के स्वास्थ्य के लिए चिंतित रहते हैं, तो अब हमें चिंतित होने की आवश्यकता नहीं है। दिन में दो बार इस औषधि का उपयोग कर आप खुद के स्वास्थ्य में बदलाव ला सकते हैं और भविष्य में आने वाली बीमारियों से दूर रहा जा सकता है और एक खुशहाल जीवन व्यतीत किया जा सकता है।

हम उम्मीद करते हैं कि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी होगी और आप मुख्य नुस्खों का उपयोग करके सारी बीमारियों को दूर करने में कामयाब होंगे।